पुरे देश में लॉक डाउन होने के बाद अनलॉक १ भी शुरू किया गया। इसी के साथ लॉक डाउन में हजारो लोगो के रोजगार और काम धंधे बंद रहे। इस दौरान प्राइवेट टूर एंड ट्रेवल्स की बस चलाने वाले संचालको की बस इस समय में बंद रहे । लेकिन गुजरात सरकार ने बहोत से राहत के लिए सभी क्षेत्र के लोगो और व्यपारियो के लिए राहत का खजाना खोला। लेकिन गुजरात सरकार द्वारा प्राइवेट बस सञ्चालन करने वाले टूर तथा ट्रेवल्स कंपनी और एजेंसी को कही भूल गए इस का विरोध कर सभी तरह की बस सञ्चालन करने की अनुमति होने के दौरान भी अखिल गुजरात प्रवासी वाहन समिति ने गुजरात से बहार १० हजार से ज्यादा बस न ले जाने का फैशला किया और २ दिवशीय हड़ताल कि। हड़ताल में अलग अलग मांगे राखी गयी जैसे टैक्स , लोन के हप्ते , एडवांस टेक्स , ३५००० हजार की आर्थिक सहयोग, १००००० तक की लोन , और १५ दिन तक का विमा आदि मानगो के साथ हड़ताल में रहे। हड़ताल के कुछ दिन बाद ही गुजरात सरकार ने सभी प्राइवेट टूर एंड ट्रेवल्स के बस संचालको के लिए राहत की खबर दी और अप्रैल २०२० से सितम्बर २०२० तक रोड टैक्स में छूट दी गयी है।
समिति के सेकेटरी और नीता ट्रेवल्स के डिरक्टर राजेंद्र ठक्कर का कहना है की देश में लॉक डाउन के बाद सभी प्राइवेट टूर एंड ट्रेवल्स की बस २ महीने से बंद है। लेकिन सरकारी टैक्स चालू था इस की बजह से हमारे समिति के १५००० से ज्यादा सदस्य जो इसी टूर एंड ट्रेवल्स के व्यापार से रोज रोटी पाते है और लाखो लोगो को रोजगार देते है उन सभी को लॉक डाउन के दौरान नुकशान हो रहा है। इसी लिए समिति की कुछ मांगे के साथ हमने बस सञ्चालन न करने का विचार बनाया है । दिनेश अन्नधन बताते है की सरकार ने हमारी सभी मांग में से कुछ मांग मानी है और गुजरात सरकार दौरा और भी आगे हमारी प्राइवेट टूर एंड ट्रेवल्स के समस्या का समाधान करेंगे ऐसी आशा करते है। गुजरात १०००० से ज्यादा बस कुछ दिन रोकने के बाद सरकार ने सभी बस सञ्चालन करने वाले व्यापारी को राहत प्राप्त होगा और बहोत जल्दी इस महामारी से बहार आकर सभी बस पहले के तरह नार्मल रूप से चलेंगे ऐसी आशा रखते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here